Friday, September 11, 2020

2022 की मैट्रिक और इंटर परीक्षा के लिए 28 सितंबर तक होगा रजिस्ट्रेशन, और 2021 मैं मैट्रिक परीक्षा देने वाले को 15 सितंबर तक होगा रजिस्ट्रेशन

बिहार बोर्ड ने 2022 में होने वाली मैट्रिक और इंटर किए वार्षिक परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन तिथि जारी कर दी है।

2021 में मैट्रिक परीक्षा देने वाले विद्यार्थी जिसका रजिस्ट्रेशन छूट गया है वह अपना रजिस्ट्रेशन 15 सितंबर तक करवा सकते हैं।वही जो छात्र रजिस्ट्रेशन करवा लिए हैं लेकिन इसका पंजीयन में कुछ त्रुटि रह गई है तो वह अपना त्रुटि सुधार 15 सितंबर तक कर सकते हैं। जैसे छात्र का नाम माता पिता के नाम में कोई स्पेलिंग, फोटो, जन्मतिथि, जाति, धर्म, राष्ट्रीयता, कोटी, लिंग, विषय आदि में 15 सितंबर तक सुधार करवा सकते हैं

2022 के मैट्रिक और इंटर परीक्षा के लिए।
रजिस्ट्रेशन फॉर्म ऑनलाइन भरने की शुरुआत गुरुवार से ही हो गई है बोर्ड प्रशासन ने रजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 28 सितंबर तक की है विद्यार्थी बिहार बोर्ड की वेबसाइट डब्लू www.biharboard.online पर लॉगइन कर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं यह रजिस्ट्रेशन अभी 9 वीं और 11 वीं मैं पढ़ रहा है नियमित छात्रों का होगा मैट्रिक परीक्षा 2022 के लिए नियमित कोटी के विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन शुल्क ₹220 देना होगा। स्वतंत्र कोटी के विद्यार्थियों के लिए अतिरिक्त 100 रुपया यानी 320 रुपया देना होगा।
इंटर सत्र 2020 से 2022 हमें नामांकन प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है तीन मेघा सूचियों के बाद और अस्पष्ट एडमिशन होगा। इस बीच रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। नामांकन प्रक्रिया पूरी कर लेने वाले विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।
इंटर में चुन सकते हैं अतिरिक्त विषय है
राज्य के स्कूल कॉलेजों में इंटर में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों को बिहार बोर्ड प्रशासन अतिरिक्त विषय की सुविधा देगा इन छात्राओं को 2022 में इंटर की परीक्षा देनी होगी और नामांकन प्रक्रिया भी जारी है अब यह विद्यार्थी इंटर परीक्षा 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के साथ इस प्रक्रिया विषय पर लाभ ले सकते हैं। सभी संकाय में दाखिला लेने वाले छात्रों को छठे विषय के रूप में अतिरिक्त विषय चुनने का मौका दिया गया है। हालांकि छात्रों का छठे विषय का चयन अपने संकाय के संबंधित ही करना होगा।

बिहार बोर्ड में इंटर में अभी एक ही विषय को दो पेपर के रूप में रखने का विकल्प दिया गया है इसमें एक पेपर 50 अंको का होता है और दूसरा एक सौ अंकों का।
*ऐसा रहेगा विषय का पैटर्न
          अतिरिक्त विषय
*विषय संख्या 1:- हिंदी अथवा अंग्रेजी में
*विशेष संख्या 2:- हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू, मैथिली, संस्कृत, प्राकृत, मगही, भोजपुरी, अरबी, पर्शियन, पाली एवं बंगला में से कोई एक जो पहले विषय के रूप में नहीं लिया हो
*एेच्छिक विषय:- कला, विज्ञान, वाणिज्य या व्यवसायिक संकाय के तीन विषय
*अतिरिक्त विषय:- जिसे संख्या 2 के विषयों में से कोई एक या कला, वाणिज्य, विज्ञान अथवा व्यवसायिक संकाय का कोई एक विषय सुन सकते हैं।

No comments:

Post a Comment